Best Shayaris In Hindi | Hindi Shayari with images

Best Shayaris In Hindi
  • Save
Best shayaris in hindi
  • Save

हर रोज़ गिरकर भी मुकमल खड़े है ऐ ज़िन्दगी देख मेरे हौसले तुझसे भी बड़े है!!

Best shayaris in hindi for dogs
  • Save

दर्द समझने की औकात ना हो तो
कम से कम मारा तोह मत करो!!

Best shayaris in hindi for love
  • Save

नसीब मेरा मुझसे क्यों खफा हो जाता है
अपना जिसको भी मानो बेवफा हो जाता है
क्यों ना हो शिकायत मेरी नजरो को रात से
सपना पूरा होता नहीं और सवेरा हो जाता है!!

Best shayaris in hindi for life
  • Save

ज़िन्दगी से आप जो भी बेहतर
से बेहतर ले सको ले लो
क्यूंकि
ज़िन्दगी जब लेना शुरू करती
है तो साँसे भी नहीं छोड़ती!

Best shayaris in hindi for life
  • Save

मेरे अकेलेपन का मजाक
बनाने वालो जरा ये तोबताओ
जिस भीड़ में तुम खड़े हो
उसमे कौन तुम्हारा है!

  • Save

नसीब बनकर कोई
जिंदगी में आता है
फिर ख्वाब बनकर
आँखों में समां जाता है
यकीन दिलाता है की
वो हमारा ही है
फिर नजाने क्यों
वक़्त के साथ बदल जाता है

Best shayaris in hindi
  • Save

नज़र भी न आउ
इतना भी दूर न
करो मुझे,पूरी तरह बदल जाऊ
इतना भी मजबूर मत
करो मुझे!

Best shayaris in hindi
  • Save

हर किसी को
सफाई न दें
खुद में और
झाड़ू में फर्क
करना सीखें

Best shayaris in hindi
  • Save

उड़ा देती है नींदे कुछ
जिम्मेदारिया घर की
रात में जागने वाला हर
शख्स आशिक नहीं होता!!

Best shayaris in hindi for god
  • Save

जिस इंसान की सोच और नियत अच्छी होती है
भगवान उसकी मदद करने किसी न किसी रूप में जरूर आते है
!!

Best shayaris in hindi for life
  • Save

किसी का बुरा करके खुश मत होना,क्यूंकि ऊपर
वाला जब हिसाब करता है,तो वो संभलने तो
क्या,रोने के लायक भी नहीं छोड़ता है!!

Best shayaris in hindi
  • Save

किसी ने पूछा इस दुनिया में आपका अपना कौन है,
मैंने हसकर कहा-समय!! अगर वो सही,तो सभी
अपने वरना कोई नहीं

raat par hindi shayari
  • Save

Raat Par Hindi Shayari

इन सोई हुई आँखों को गुड नाईट कहने आये हैं,
जो देख रहे हो उन ख़्वाबों में सलाम कहने आये हैं
दुआ है गुज़रे सबसे हसीं ये रात तुम्हारी,
बस आज रात यही पैग़ाम देने आये हैं

pyar bhari shayari
  • Save

Pyar Bhari Shayari:

                                   झूम जाते है शायरी के लफ्ज बहार के पत्तों की तरह,
                                            जब शुरू होता है बयां ए हुस्न महबूब का |

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap