Best Top 10 Poem for Kids in Hindi – हिंदी बालगीत

Best Poem for Kids

Collection of Top 10 Poem for Kids in Hindi

आलू कचालू बेटा कहाँ गए थे – Aaloo Kachaloo Beta Kahan Gaye the


आलू कचालू बेटा कहाँ गए थे,
बन्दर की झोपडी में सो रहे थे,
बन्दर ने लात मारी रो रहे थे,
मम्मी ने प्यार किया हंस रहे थे,
पापा ने पैसे दिए नाच रहे थे,
भैया ने लड्डू दिए खा रहे थे.

एक चिड़िया, अनेक चिड़ियाँ – Ek Chidiya Anek Chidiya – Poem for Kids


हम्म्म्म….
हिंद1 देश…. ह्म्म्म हम्म
हम सभी एक हैं….
ता रा रा रा रा…..
(भाषा अनेक हैं…. हम्म्म्म….)…

ये अनेक क्या है दीदी ?
अनेक यानी बहुत सारे…
बहुत सारे…! क्या बहुत सारे..
अच्छा बताती हूँ…
सूरज एक, चंदा एक, तारे अनेक…
तारों को अनेक भी कहते हैं…
नहीं नहीं….!
देखो फिर से….

सूरज एक..
चंदा एक..
एक एक एक करके तारे भये अनेक….
ठीक से समझाओ ना दीदी….

देखो देखो एक गिलहरी..
पीछे पीछे अनेक गिलहरियाँ….
एक तितली.. एक और तितली….
एक एक एक करके हो गयी अब अनेक तितलियाँ….
समझ गया दीदी….
एक ऊँगली, अनेक उंगलियाँ….
दीदी दीदी, वो देखो अनेक चिड़ियाँ…..

अनेक चिड़ियों की कहानी सुनोगे..
हाँ हाँ…..

आ आ आ….
एक चिड़िया,
एक एक करके अनेक चिड़ियाँ..
दाना चुगने आई चिड़ियाँ..
दीदी हमें भी सुनाओ ना….
तो सुनो फिर से….

एक चिड़िया, अनेक चिड़ियाँ….
दाना चुगने बैठ गयी थी….
हाय राम..! पर वहां व्याध ने एक जाल बिछाया था..
व्याध..! व्याध कौन दीदी..?
व्याध, चिड़िया पकड़ने वाला..
फिर क्या हुआ दीदी….?
व्याध ने उन्हें पकड़ लिया ?
मार डाला….?

हिम्मत से गर जुटें रहें तो,
छोटे हों पर मिलें रहे तो..
बड़ा काम भी होवे भैया….
एक, दो, तीन….

चतुर चिड़िया, सयानी चिड़िया,
मिलजुल कर, जाल ले कर भागी चिड़िया….
फुर्र्रर्र्रर……!!

दूर एक गाँव के पास चिड़ियों के दोस्त चूहे रहते थे,
और उन्होंने चिड़ियों का जाल काट दिया….

तो देखा फिर तुमने…..!
अनेक फिर एक हो जाते हैं,
तो कैसा मज़ा आता है….
दीदी.. मैं बताऊँ..

हो गए एक,
बन गयी ताकत,
बन गयी हिम्मत,
दीदी.. अगर हम एक हो जाएं,
तो बड़ा काम कर सकते हैं..
हाँ हाँ.. क्यूँ नहीं..!
तो इस पेड़ की आम भी तोड़ सकते हैं..
हाँ तोड़ सकते हैं..
पर जुगत लगानी होगी..

अच्छा… ये जुगत…!
वाह..! बड़ा मज़ा आएगा….

हिंद देश के निवासी सभी जन एक हैं…
रंग-रूप वेश-भाषा चाहे अनेक हैं…
एक-अनेक, एक-अनेक…

सूरज एक, चंदा एक, तारे अनेक….
एक तितली, अनेक तितलियाँ..
एक गिलहरी, अनेक गिलहरियाँ….
एक चिड़िया, एक एक अनेक चिड़ियाँ….
बेला, गुलाब, जूही, चंपा, चमेली….
फूल है अनेक किंतु माला फिर एक है…

चु चु करती आई चिड़िया- Chu Chu karti aayi chidiya – Poem for kids

चु चु करती आई चिड़िया
दाल का दाना लाई चिड़िया
मोर भी आया, कौवा भी आया
चूहा भी आया, बन्दर भी आया
चु चु करती..

भूख लगे तो चिड़िया रानी
मूँग की दाल पकाएगी
कौवा रोटी लाएगा
लाके उसे खिलाएगा
मोर भी आया…

चलते चलते मिलेगा भालू
हम बोलेंगे नाचो कालू
मुन्ना ढोल बजाएगा
भालू नाच दिखाएगा
मोर भी आया…

साथ हमारे चले बराती
मैं तो हूँ मुन्ने का हाथी
सीधे दिल्ली जाऊँगा
तेरी दुल्हनिया लाऊँगा
मोर भी आया…

चंदामामा दूर के – Chanda Mama Door Ke – Poem for Kids


चंदामामा दूर के, पुए पकाएं बूर के
आप खाएं थाली में, मुन्ने को दें प्याली में

प्याली गई टूट मुन्ना गया रूठ
लाएंगे नई प्यालियाँ बजा बजा के तालियाँ
मुन्ने को मनाएंगे हम दूध मलाई खाएंगे,
चंदामामा …

उड़नखटोले बैठ के मुन्ना चंदा के घर जाएगा
तारों के संग आँख मिचौली खेल के दिल बहलाएगा
खेल कूद से जब मेरे मुन्ने का दिल भर जाएगा
ठुमक ठुमक मेरा मुन्ना वापस घर को आएगा,
चंदामामा …

ऊपर पंखा चलता है- Upar Pankha Chalta Hai – Poem for kids

ऊपर पंखा चलता है
निचे मुन्ना सोता है
सोते सोते भूख लगी
खाले बेटा मूंगफली
मूंगफली में दाना नहीं
हम तुम्हारे मामा नहीं
मामा गए दिल्ली
वहां से लाये दो बिल्ली
बिल्ली ने मारा पंजा
ताऊ हो गया गंजा
ताऊ ने मारी लात
चल पड़ी बारात
बारात में दो बच्चे
मम्मी डेडी अच्छे

पाँच छोटे बंदर बिस्तर पे कूदे- Paanch Chote Bandar bistar pe kudhe

पाँच छोटे बंदर बिस्तर पे कूदे,
एक गिर गया और उसके सिर पे लग गयी,
मम्मी डॉक्टर को बुलाई डॉक्टर ने कहा,
“फिर से बिस्तर पे कूदना हे माना! ”
चार छोटे बंदर बिस्तर पे कूदे,
एक गिर गया और उसके सिर पे लग गयी,
मम्मी डॉक्टर को बुलाई डॉक्टर ने कहा,
“फिर से बिस्तर पे कूदना हे माना! ”

टीन छोटे बंदर बिस्तर पे कूदे,
एक गिर गया और उसके सिर पे लग गयी,
मम्मी डॉक्टर को बुलाई डॉक्टर ने कहा,
“फिर से बिस्तर पे कूदना हे माना! ”

दो छोटे बंदर बिस्तर पे कूदे,
एक गिर गया और उसके सिर पे लग गयी,
मम्मी डॉक्टर को बुलाई डॉक्टर ने कहा,
“फिर से बिस्तर पे कूदना हे माना! ”

एक छोटा बंदर बिस्तर पे कूदा,
वो गिर गया और उसके सिर पे लग गयी,
मम्मी डॉक्टर को बुलाई डॉक्टर ने कहा,
“फिर से बिस्तर पे कूदना हे माना!

आह ! टमाटर बड़े मजेदार -Aaha Tamatar bada mazedar – Poem for kids

आह ! टमाटर बड़े मजेदार,
एक दिन इसको चूहे ने खाया,
बिल्ली को भी मार भगाया
आह ! टमाटर बड़े मजेदार,
एक दिन इसको चींटी ने खाया,
हाथी को भी मार भगाया
आह ! टमाटर बड़े मजेदार,
एक दिन इसको पतलू ने खाया,
मोटू को भी मार भगाया

हरी नीम की डाल पर – Hari Neem Ki Daal Par – Poem for Kids

हरी नीम की डाल पर,
तीन तोते थे ,तीनो सोते थे ,
एक पटाखा फुटा , जैसे बर्तन टुटा ,
डर गए तीनो तोते ,
हरी नीम की डाल से ,
उड़ गए तीनो तोते ,
एक तोता फुर ,
दूसरा तोता फुर -फुर ,
तीसरा तोता फुर -फुर -फुर

बन्दर मामा पहन पजामा – Bandar Mama Pahan Pajama – Poem for Kids

बन्दर मामा पहन पजामा,
दावत खाने आए
ढीला कुर्ता, टोपी, जूता,
पहन बहुत इतराए
रसगुल्ले पर जी ललचाया,
मुँह मे रक्खा गप से
नर्म-नर्म था, गर्म-गर्म था,
जीभ जल गयी लप से
बन्दर मामा रोते-रोते,
घर को वापस आये
फेंकी टोपी, फेंका जूता,
रोये औ’ पछताए

सुबह सवेरे आती तितली- Subah Savere Aati Titli

सुबह सवेरे आती तितली,
फूल फूल पर जाती तितली|
हरदम है मुस्काती तितली,
सबकी मन को भाती तितली

You May Also Like

1 Trackback / Pingback

  1. 10 Hindi Poem for Kids -हिंदी में पोएम्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*